डॉ. विकास दिव्यकीर्ति की UPSC रैंक, जानें किस वजह से छोड़ दी थी नौकरी

Image Source: Google

Image Source: Google

दृष्टि IAS के संस्थापक डॉ. विकास दिव्यकीर्ति एक जाना माना नाम है।

Image Source: Google

साल 1996 में डॉ. विकास दिव्यकीर्ति ने पहली बार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा दी थी।

Image Source: Google

एक इंटरव्यू में विकास दिव्यकीर्ति ने बताया था कि यूपीएससी परीक्षा में उनकी 384 रैंक थी ।

Image Source: Google

उन्हें CISF में असिस्टेंट कमांडेंट की पोस्ट ऑफर हुई थी। हालांकि, वह मेडिकली उसके लिए अनफिट थे।

Image Source: Google

फिर उन्हें सेंट्रल सेक्रेटेरियल सर्विस ऑफर की गई, जिसके लिए उन्होंने हां बोल दिया था।

Image Source: Google

विकास दिव्यकीर्ति ने फिर दूसरा अटेम्पट भी दिया लेकिन इस बार मेन्स क्लियर नहीं हुआ।

Image Source: Google

तीसरे अटेम्प्ट में भी उन्होंने इंटरव्यू दिया लेकिन सेलेक्शन नहीं हुआ।

Image Source: Google

विकास दिव्यकीर्ति को बच्चों को पढ़ाना ज्यादा पसंद था इसलिए उन्होंने नौकरी से रिजाइन कर दिया और फिर दृष्टि IAS कोचिंग की स्थापना की।

Image Source: Instagram

मिलिए IAS ऑफिसर कस्तूरी पांडा से